क्या आप भी Google Algorithm Updates से परेशान हो – जरूर पढ़े



नमस्कार दोस्तों कैसे हो आप लोग आज का पोस्ट बहुत ही ज्यादा जरुरी है क्यूंकि इस पोस्ट में बात करूँगा google algorithm updates के बारे में. दोस्तों आये गए दिन गूगल अपने algorithm को बहुत ज्यादा अपडेट करता है जिसकी वजह से बहुत bloggers को प्रॉब्लम होती है.

गूगल हर महीने अपने सर्च रिजल्ट को बेहतर बनाने के लिए अपने algorithm में तरह तरह के बदलाव करता रहता है जिससे की बहुत से bloggers को प्रॉब्लम होती है. बहुत लोगो का तो ब्लॉग ट्रैफिक में बहुत गिरावट भी देखने को मिली है.

ये पोस्ट में इसलिए लिख रहा हु क्यूंकि मेरे एक दूसरे हिंदी ब्लॉग पर पिछले २० दिनों से ट्रैफिक में गिरावट हुई है और इससे में काफी परेशान था.

फिर मैंने इसके बारे में एक वेबमास्टर फोरम में डिसकस किया तो पता चला की केवल मैं ही नहीं ऐसे बहुत से दूसरे हिंदी bloggers है जो भी सेम ट्रैफिक drop से परेशान है.

पर्सनली उस ब्लॉग पर मेरा ट्रैफिक ४० परसेंट काम हो गया है और उस फोरम पर ऐसे bloggers मुझको मिले जिनका ट्रैफिक ६० परसेंट तक काम हुआ है.

मैंने सोचा की केवल ये हिंदी ब्लॉग के लिए हो रहा है लेकिन उस फोरम में ऐसे बहुत से इंग्लिश bloggers भी थे जो की ट्रैफिक कम होने की शिकायत कर रहे थे.

इससे पहले गूगल ने एक बहुत बड़ा अपडेट किया था जो की medic अपडेट था जो की अगस्त २०१८ में रिलीज़ हुई थी और इससे तो मेरे ब्लॉग पर कोई खास फरक पड़ा नहीं और ट्रैफिक में भी कोई कमी नहीं हुई थी.

लेकिन नवंबर २०१८ के १० तारिक के बाद उस ब्लॉग के ट्रैफिक पर बहुत बुरा असर पड़ा है. में अपनी पूरी कोशिश कर रहा हु की ट्रैफिक को रिकवर करू और उम्मीद करता हु की ट्रैफिक पहले जैसा हो जायेगा।

पढ़े – Google algorithm updates in hindi

नवंबर के महीने में ब्लैक फ्राइडे, थैंक्स गिविंग डे, साइबर मंडे की वजह से गूगल ने अपने algorithm में बहुत बदलाव किया था हो सकता है की उस वजह से भी ट्रैफिक डाउन हुआ हो. मैंने जो देखा था की इस टाइम पर गूगल e-commerce साइट्स के स्पॉन्सर्ड ads को ऊपर की तरह बहुत दिखा रहा था.

जिसकी वजह से हमारे ब्लॉग की रैंकिंग निचे आ गयी हो. खास करके ब्लैक फ्राइडे और थैंक्स गिविंग डे के दिन तो कोई भी रेगुलर सर्च पर भी गूगल स्पॉन्सर्ड ads ऊपर दिखा रहा था.

google-algorithm-update1

जो की ऑफ सीजन के टाइम पर ऐसा नहीं करता है. इसके अलावा हिंदी सर्च क्वेरी के लिए भी सर्च रिजल्ट्स जो दिखा रहा है वो किसी भी एंगल से यूजर को अच्छा एक्सपीरियंस नहीं दे रहा है.

कुछ सर्च क्वेरी जो की यूजर हिंगलिश में सर्च करता है तो गूगल इंग्लिश साइट्स को ऊपर दिखा रहा है बल्कि निचे हिंदी फॉण्ट में उसी सर्च क्वेरी से रिलेटेड बेस्ट पेजेज उपलब्ध है. शायद गूगल इस फेस्टिवल सीजन के चलते ऐसा कर रहा हो.

गूगल पता ही नहीं लगा पा रहा है की यूजर क्वेरी हिंगलिश में टाइप कर रहा है और वो उनको इंग्लिश साइट्स के रिजल्ट्स दिखा रहे है जिसको इंग्लिश नहीं जानने वाला यूजर बिलकुल भी समझ नहीं पायेगा और ये तो १०० परसेंट ख़राब यूजर एक्सपीरियंस है.

लेकिन पहले ऐसा नहीं होता था और गूगल को समझ में आ जाता था की यूजर हिंगलिश में टाइप कर रहा है तो उसको हिंदी सर्च रिजल्ट्स पहले दिखाने होते है लेकिन पिछले २० दिनों से ये नहीं हो पा रहा है.

में उम्मीद करता हु की गूगल इस बात को जरूर अड्रेस करेगा और अपने हिंदी सर्च रिजल्ट्स को बेहतर बनाएगा। शायद फेस्टिवल सीजन की वजह से ये बदलाव हुए है और मुझको पूरी उम्मीद है की गूगल इसको आने वाले दिनों में ठीक कर देगा।

इसके अलावा मोबाइल फर्स्ट इंडेक्सिंग के बारे में भी बहुत चर्चा हो रही है और शायद गूगल ने इसको इम्प्लीमेंट भी कर दिया है. मोबाइल फर्स्ट इंडेक्सिंग के बारे में एक अलग से डिटेल में पोस्ट लिखूंगा जिससे की आपको पता चल पाए की ये algorithm क्या है और आपको क्या करना चाहिए।

आप क्या कर सकते हो?

दोस्तों हो सकता है की आपके ब्लॉग की ट्रैफिक में भी कमी आयी होगी और आप भी परेशान होंगे की आप अपने ट्रैफिक को रिकवर कैसे करे.

इसके लिए में आपको सलाह दूंगा की आपको केवल अपने ब्लॉग पर रेगुलर ब्लॉग्गिंग करना है, हाई क्वालिटी कंटेंट पब्लिश करना है अपने ब्लॉग का यूजर एक्सपीरियंस इम्प्रूव करना है.

गूगल भी यही एडवाइस सभी पब्लिशर्स को देता है की यदि आपका ट्रैफिक कम हुआ है तो आपको रेगुलर अपने ब्लॉग पर काम करते रहना चाहिए और गुड कंटेंट के साथ अपने ब्लॉग के यूजर एक्सपीरियंस को बेहतर बनाना होगा।

ब्लॉग पर ट्रैफिक कम होने के बहुत कारण वजह हो सकती है और इसके लिए मैंने एक डिटेल में पोस्ट भी लिख रखा है जिसको आप पढ़ सकते हो.

पढ़े – ब्लॉग की ट्रैफिक कम होने की वजह

हो सकता है की आपके ब्लॉग पर गूगल पेनल्टी जैसे की पेंगुइन और पांडा लग सकती है या फिर ये गूगल के अपडेट की वजह से हो रहा हो.

यदि ये पांडा या पेंगुइन पेनल्टी की वजह से है तो आपको बहुत ज्यादा काम करना होगा अपने ब्लॉग की ट्रैफिक को रिकवर करने के लिए. यदि ये google algorithm updates की वजह से हो रहा है तो इसमें आप कुछ भी नहीं कर सकते हो.

आप अपने ब्लॉग पर रेगुलर काम करना होगा, फ्रेश कंटेंट पब्लिश करना है और कोई black hat seo techniques का इस्तेमाल नहीं करना है वरना आपको बहुत भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है.

हां लेकिन एक बात में आप सभी लोगो से कहना चाहता हु की जब कभी भी गूगल का कोई मेजर अपडेट आता है तो तुरंत ही अपने ब्लॉग पर बहुत ज्यादा बदलाव नहीं करना चाहिए।

आपको कुछ दिन रुकना चाहिए और फिर देखना है की आपके ब्लॉग पर क्या इफ़ेक्ट हो रहा है. ये में इसलिए बोल रहा हु क्यूंकि बहुत से नए ब्लॉगर है जो की हड़बड़ा जाते है और वो अपने ब्लॉग पर बहुत ज्यादा बदलाव करने लग जाते है.

कई बार तो ऐसा देखा गया है की अपडेट के कुछ दिन के बाद फिर से ट्रैफिक नार्मल हो जाता है लेकिन जो ब्लॉगर तुरंत ही अपने ब्लॉग पर बदलाव कर देते है उनका ट्रैफिक दुबारा वापिस नहीं आता है और उनका बहुत नुकसान होता है.

इसलिए दोस्तों आपको अल्गोरिथम अपडेट के कुछ दिन बाद इंतजार करना है और फिर उसके बाद एक्शन लेना चाहिए। में भी पर्सनली ऐसा ही करता है में तुरंत ही अपने ब्लॉग पर कोई भी बड़ा चेंज नहीं करता हु.

पहले में अपडेट को अच्छे से सेटल होने देता हु और फिर ट्रैफिक और रैंकिंग को मॉनिटर करता हु. जब मुझको लगता है की कोई बदलाव करना पड़ेगा तब में अपने ब्लोग्स पर बदलाव करता हु.

दोस्तों ये बात तो सच है की गूगल आजकल बहुत ही ज्यादा अल्गोरिथम अपडेट कर रहे है जिसकी वजह से bloggers को बहुत परेशानी हो रही है. बहुत लोगो का ट्रैफिक और रैंकिंग में कमी देखने को मिली है.

मैंने सोचा की यदि ये पोस्ट में आप लोगो के साथ शेयर करूँगा तो जिन लोग के ब्लॉग की ट्रैफिक और रैंकिंग काम हुई है उनको हेल्प हो पाए.

दोस्तों गूगल को हम अपने अल्गोरिथम को अपडेट करने से रोक नहीं सकते है, वो लोग लगातार बदलाव करते रहते है. हमको केवल अपने ब्लॉग पर रेगुलर काम करना है और अपने रीडर्स को बेस्ट कंटेंट देना है.

आपकी ओर दोस्तों

दोस्तों यदि आपके ब्लॉग की ट्रैफिक में कमी आयी है तो आप कमेंट में अपने डाउट पूछ सकते हो और हम उसपर डिसकस करेंगे। दोस्तों यदि आपको ये पोस्ट हेल्पफुल लगी तो पोस्ट को शेयर भी जरुरी करे.

Add a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *