Blogging Karne Ke Nuksan / Side Effects – (My Personal Experience)



Blogging Karne Ke Nuksan Side effects – नमस्कार दोस्तों आज का पोस्ट मेरे लिए बहुत खास है और मैं समझता हूं कि जो लोग फूल टाइम blogging करते हैं उन लोगों के लिए यह पोस्ट बहुत ज्यादा उपयोगी साबित होगी और जो लोग blogging शौक के तौर पर या पार्ट टाइम करते हैं उनके लिए भी यह पोस्ट बहुत ज्यादा रोमांचक साबित होगा

मैंने आज का यह पोस्ट लिखने का निर्णय किस वजह से लिया क्योंकि जब से मैं फुल टाइम ब्लॉगर बना था उस समय से मुझको यह सारी प्रॉब्लम सामने आई और जब मैं पार्ट टाइम जॉब इन करता था उस समय मैंने किन-किन प्रॉब्लम का सामना करना पड़ा उसके बारे में आज मैं आपको इस पोस्ट में बताने वाला हूं

read – Regular blog update karne ke fayde

दोस्तों blogging करने के बहुत सारे फायदे हैं और कोई भी blogging अगर अच्छी तरीके से करता है तो वह 9 to 5 जॉब से काफी ज्यादा अच्छे पैसे कमा सकता है लेकिन यदि आप फुल टाइम लॉकर है या आप पार्ट-टाइम blogging करते हैं अपने जॉब के साथ तो आपको किन-किन प्रॉब्लम का सामना करना पड़ेगा यह मैं आपको आज के इस पोस्ट में अपना पर्सनल एक्सपीरियंस के जरिए शेयर करना चाहता हूं मैं उम्मीद करता हूं कि आज का यह पोस्ट पढ़कर कहीं ना कहीं आप अपने आप से मेरे बातों को जोड़ सकते हैं

चलिए दोस्तों ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए हम आज के पोस्ट की शुरुआत करते हैं और देखते हैं कि फुल टाइम लॉग इन करने के नुकसान और साइड इफेक्ट

Blogging Karne Ke Nuksan / Side Effects

Side Effects of Blogging in Hindi

Blogging Karne Ke Nuksan Side Effects

1. अकेलापन महसूस करना

दोस्तों जबसे में फुल टाइम ब्लॉगर बना था कुछ दिनों तक तो मुझको बहुत अच्छा लग रहा था कि मुझको आप जॉब करने की कोई जरूरत नहीं है और मैं अपने मनमुताबिक अपने ब्लॉग पर काम कर सकता हूं और मुझको किसी का भी हुकुम सहन करने का कोई जरूरत नहीं है

मैं इतना खुश था जब मैं फुल टाइम लॉकर बन चुका था उससे पहले मैं एक मल्टीनेशनल कंपनी में भी काम करता था और मैं हमेशा यही सपने देखता था कि 30 दिन मैं अपने जॉब से छुटकारा पा सकता हूं और घर बैठे अपने मर्जी से अपने मनमुताबिक अपने ब्लॉग पर काम कर सकता हूं

मैं नियमित रुप से अपनी जॉब करने के बाद घर पर आकर blogging करता था और देर रात तक अपने ब्लॉग को बेहतर बनाने की कोशिश करता था और हर रोज नया पोस्ट लिखने की कोशिश करता था

read –  Meri full time blogger banne ki story

जॉब के साथ blogging करना बहुत ज्यादा मुश्किल होता है और इस समय पर बहुत सारे ऐसे पार्ट टाइम ब्लॉगर है जो लोग अपनी नौकरी करने के साथ-साथ अपनी blogging के शौक को पूरा करना चाहते हैं

जहां तक मेरा पर्सनल एक्सपीरियंस है जब मैं अपनी जॉब से घर पर आता था तो मैं पूरी तरीके से थक जाता था लेकिन blogging में मुझे इतना इंटरेस्ट है कि मैं जैसे ही अपने ब्लॉग पर काम करना शुरू करता था तो मेरी सारी थकान दूर हो जाती थी

मैं हमेशा से यही सपना देखता था कि कैसे मैं अपनी जॉब से छुटकारा पाऊं और सच बताऊं दोस्तों जब मैं अपनी जॉब पर जाता था तुम मुझ को बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता था और मैं जॉब करते समय भी हमेशा यही सपने देखता था कि कब मैं फुल टाइम लॉकर बन जाऊं और इस नौकरी से छुटकारा पाऊं

दोस्तों एक दिन ऐसा भी आ गया जब मैं उस स्थिति में पहुंच गया कि मैं अपनी जॉब को छोड़ने में कामयाब हो गया उसके बाद तो मेरे खुशी का कोई ठिकाना ही नहीं था

लेकिन यह खुशी ज्यादा दिन तक नहीं टिक पाई और एक हफ्ते बाद ही मैं बहुत ज्यादा अकेलापन महसूस करने लगा क्योंकि मैं अकेले रहता था मेरे माता पिता मुंबई में रहते हैं और मैं अकेला दिल्ली में जॉब करता था

मैंने किराए पर रूम ले रखा था और उस रूम में केवल मैं ही रहता था और जब मैं सुबह उठता था तब मैं चारों तरफ देखता था कि मेरे घर में तो कोई है ही नहीं और मैं बहुत ज्यादा बोर महसूस करता था

read – blogging karne ka sahi tarika

दोस्तों यह मेरा पर्सनल एक्सपीरियंस है शायद आप लोगों के घर में आपके माता-पिता रहते होंगे तो आपका मन लग जाता होगा लेकिन मैं अकेला रहता था और मुझको यह प्रॉब्लम ने बहुत ज्यादा परेशान किया

मैं रोज सुबह उठकर अपने ब्लॉग पर काम करता था और काम करते-करते कब शाम हो जाति पता ही नहीं चलता था और फिर उसके बाद मैं सोने के लिए चले जाता फिर जब मैं सुबह उठता उसके बाद फिर से वही रूटीन फॉलो करना पड़ता था

दोस्तों मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि जो मेरा जीवन का सपना था मुझको फुल टाइम ब्लॉगर बनना है वोही करने पर मुझको इतनी ज्यादा बोरियत फीलिंग होगी और यह सब मैंने फुलटाइम ब्लॉगर बनने के बाद एक्सपीरियंस किया

२. दोस्तों और परिवार वालों को समय ना दे पाना

blogging करने का यह भी एक बहुत बड़ा नुकसान और साइड इफेक्ट है जिसकी वजह से हम अपने ब्लॉग को अपडेट करने में इतना ज्यादा व्यस्त रहते हैं कि हम अपने दोस्तों के साथ और घर परिवार वालों के साथ समय नहीं बिता पाते हैं

जब मैं पार्ट टाइम blogging करता था उस समय पर मैं इतना ज्यादा व्यस्त रहता था कि जॉब से घर पर आने के बाद में सीधा अपने लैपटॉप खोल के कमेंट पढ़ता था और blogging करना शुरू कर देता था

और मेरी मां कहती थी कि तेरे पास और कोई काम नहीं होता है क्या जॉब से आता है और तुरंत ही अपना लैपटॉप खोलकर बैठ जाता है

ठीक इसी तरीके से मेरे दोस्त लोग भी मुझको यही कहते थे कि रोहित आज कल क्या हो गया है तू हमारे साथ बाहर घूमने के लिए नहीं आता है ना ही हमारे साथ नहीं बैठता है तू हर समय अपने कमरे में ही बंद रहता है ऐसा क्या है

read – successful blogger banne ka tarika

तब मैं उन लोगों को यह बात नहीं कह सकता था कि मुझे blogging करना है और मुझ को एक फुल टाइम लवर बनना है जिसकी वजह से मैं पूरे समय अपने घर पर बैठ कर अपना मनचाहा काम कर सकता हूं

तो यह प्रॉब्लम भी मेरे लिए एक बहुत बड़ी समस्या हो गई थी जिसकी वजह से मैं अपने दोस्तों के साथ समय नहीं बिता पा रहा था और अपने माता-पिता से भी सही से बात नहीं कर पा रहा था

हालांकि अब जब मैं फुलटाइम ब्लॉगर बन चुका हूं अब मेरे पास थोड़ा समय होता है इसी वजह से मैं अपने दोस्तों के साथ और अपने माता-पिता के साथ अच्छी तरीके से समय बिता पाता हूं

३. आंखों में जलन होना

यह भी blogging करने का एक बहुत बड़ा साइड इफेक्ट है जिसकी वजह से अगर आप अपने लैपटॉप पर बहुत देर तक काम करते हैं तो आपकी आंखों में बहुत तेज जलन होने शुरू हो जाती है

क्योंकि जो फुल टाइम लॉकर होते हैं उनको कम से कम 7 या 8 घंटे अपनी ब्लॉग पर काम करना होता है जिसकी वजह से उनकी आंख में बहुत ज्यादा प्रेशर पड़ता है और उनकी आंखों में बहुत ज्यादा जलन होती है

इसलिए आप लोगों ने देखा होगा कि जो लोग फूल टाइम ब्लॉगर है ज्यादातर उन लोगों में से सबकी आंखों में चश्मा लगा होता है

अगर आप को इस साइड इफेक्ट से बचना है तो आप अपने लिए एंटी लेयर चश्मा खरीद सकते हो जिसकी वजह से आप क्या आंखों में जलन और आपकी आंखों से पानी आना बंद हो जाएगा

४. बाकी काम काजो में असर पड़ना

दोस्तों जैसे कि मैंने आपसे पहले ही कहा कि मैं अकेला रहता था तो blogging की वजह से मेरे बाकी काम का जो मैं बहुत ज्यादा असर पड़ता था जैसे कि मान लीजिए आज मुझको अपना कपड़ा धोना है तो मैं उसको भिगोकर रख देता था और उसको तो नहीं पाता था

जिसकी वजह से मुझको बहुत ज्यादा परेशानी होती थी और इसके अलावा बहुत सारे ऐसे काम होते थे जिसको मैं blogging की वजह से इग्नोर करते जाता था

पहले मैं जिम में जाकर वर्कआउट करता था लेकिन जब से मैं फुलटाइम ब्लॉगर बन चुका हूं तब से मैं जिम जाना मैंने छोड़ दिया है लेकिन आगे मैं जरूर जिम जॉइन कर लूंगा क्योंकि जब आपकी सेहत अच्छी होगी तभी आप blogging में अच्छा कर पाएंगे

यह बात मैं इसलिए कह रहा हूं क्योंकि यदि आपकी सेहत अच्छी नहीं होगी तो आप blogging में कॉन्संट्रेशन नहीं कर पाओगे और यदि आपको बुखार जुखाम हो जाता है तो आपके blogging पर बहुत ज्यादा असर पड़ता है और इसी वजह से मैं कह रहा हूं कि अपनी सेहत का आपको भरपूर ध्यान देना चाहिए

read –  full time blogger kaise bane

५. नेगेटिव कमेंट आना

दोस्तों जाहिर सी बात है जो बात आप अपने दर्शकों के साथ शेयर करते हैं जरूरी नहीं है शिवा बात सबको पसंद आए हो सकता है कि आप की कुछ बातें बहुत लोगों को पसंद ना आए जिसकी वजह से आपके ब्लॉग पर नेगेटिव कमेंट आ जाते हैं

हालांकि अभी तक मेरे इस ब्लॉग पर कोई भी नेगेटिव कमेंट नहीं आया है पर मैंने देखा है कि बहुत से दूसरे ब्लॉगर यह कंप्लेंट करते हैं कि उनके ब्लॉग पर नियमित रूप से नेगेटिव कमेंट आते रहते हैं

दोस्तों पर यहां पर मैं आपसे एक बात कहना चाहता हूं कि अगर आपके ब्लॉग पर बहुत ज्यादा नेगेटिव कमेंट आते हैं तो आपको उनको इग्नोर करना चाहिए क्योंकि अगर आप इन बातों को ज्यादा सीरियसली ले लेंगे तो आपके blogging पर इसका बुरा प्रभाव पड़ेगा

यदि हमारे दर्शन हमारी कोई गलती हमको बताते हैं जो हमको लगता है कि सही है तो हम उसको सुधारने की कोशिश करते हैं लेकिन यदि आपका कोई कॉन्पिटिटर है जो आपसे जलता होगा तो जाहिर सी बात है कि वह लोग आपके ब्लॉग पर नेगेटिव कमेंट डालेंगे ताकि आपका आत्मविश्वास तोड़ सके

लेकिन आप लोगों को ऐसे कमेंट को केवल इग्नोर करना है और किसको ज्यादा मन में लेकर नहीं बैठना है क्योंकि अगर आप ऐसा करोगे तो आप अच्छे तरीके से और खुश मनसे blogging नहीं कर पाओगे

६. आपके काम के बारे में कोई नहीं जानता

दोस्त विदेश में तो हर किसी को blogging क्या होता है पता है लेकिन भारत में अगर आप से कोई पूछता है कि आप क्या काम करते हो. तो उन लोगों को समझाना कि मैं blogging करता हूं बहुत ज्यादा मुश्किल हो जाता है

क्योंकि एक बार मुझसे एक लड़के ने पूछा यार तुम दिन भर रूम पर बैठकर क्या करते हो और तुम्हारा घर कैसे चल पाता है तब जब मैंने उनको कहा कि मैं फुल टाइम ब्लॉगर हूं और मैं ब्लॉकिंग करता हूं तो उसको बिल्कुल भी समझ में नहीं आया तो यह बात भी कही ना कही हमारे मन में रहती है कि लोग बिल्कुल समझ नहीं पाते हैं कि आप घर में बैठ कर कैसे पैसे कमाते हो

हालांकि हम को इन बातों पर ध्यान नहीं देना है कि लोग बाग हमारे बारे में क्या सोचते हैं लेकिन कहीं ना कहीं थोड़ा सा यह मुझको महसूस हुआ जब भी मैं घर में रहता हूं और बहुत दिनों तक कहीं नहीं जाता हूं तो हमारे पड़ोसी हमसे यह बात जरूर पूछते हैं कि आप क्या काम करते हो क्योंकि उन लोगों को लगता है कि यह लड़का तो बिल्कुल सही रहता है अच्छे कपड़े पहनता है अच्छा पढ़ा लिखा लगता है यह घर पर क्यों रहता है हरदम

तो उनको यह बात समझाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है क्योंकि भारत में अभी blogging को भले ही पढ़े लिखे लोग जानते होंगे लेकिन जो लोग ज्यादा पढ़े लिखे नहीं हैं उनको समझाना बहुत ज्यादा मुश्किल हो जाता है

read – blogging ki puri jankari hindi me

७. कमर में दर्द होना

दोस्तों जब से मैंने फुल टाइम blogging स्टार्ट करी है उस समय से मेरे कमर में बहुत ज्यादा दर्द रहता है क्योंकि मुझे 7 से 8 घंटे अपने लैपटॉप पर बैठ कर काम करना पड़ता है जिसकी वजह से मेरे कमर में बहुत ज्यादा दर्द होता है

जो लोग फूल टाइम blogging करते हैं वह लोग इस बात से जरूर सहमत होंगे. हालांकि यह दर्द इतना ज्यादा सीरियस नहीं होता है हमको थोड़ी देर आराम करना होता है और फिर हम पूरी तरीके से सही हो जाते हैं

८. नियमित रूप से blogging करना होता है

दोस्तों यह बात तो आप लोगों को पता ही होगी यदि आप बहुत दिनों तक अपने ब्लॉग को अपडेट नहीं करेंगे और उसमें नए ब्लॉग पोस्ट नहीं डालेंगे तो आपके ब्लॉग की ट्रैफिक और इनकम में नेगेटिव इफ़ेक्ट पड़ता है

क्योंकि Google वैसे ब्लॉग को पसंद करता है जो नियमित रूप से अपडेट किए जाते हैं और उसमें नए-नए पोस्ट डाले जाते हैं. लेकिन यदि आपको कहीं बाहर जाना होगा बहुत दिनों के लिए तब आपका ब्लॉग अपडेट नहीं हो पाता है और उसकी वजह से आपके ब्लॉग का ट्रैफिक और इनकम दोनों पर नेगेटिव साइड इफ़ेक्ट पड़ता है

इससे बचने का आपके लिए एक बहुत ही जबरदस्त उपाय मैं आप लोगों के लिए लेकर आया हूं कि यदि आपको पता चल जाए कि मुझको बहुत दिनों के लिए बाहर जाना है तो आप पहले से ही कुछ ब्लॉग पोस्ट लिखकर उनको शेड्यूल कर दें ताकि वह उस दिन ऑटोमेटिक आपके ब्लॉग पर पोस्ट हो जाए

इस तरीके से आप अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक को कम होने से बचा सकते हैं और अपने इनकम को इनक्रीस कर सकते हैं

read – blogging karne ke fayde benefits

आपकी और दोस्तों

दोस्तों यह था blogging करने के नुकसान और साइड इफेक्ट ( Blogging Side effects in hindi )  मैं उम्मीद करता हूं कि आजकल यह पोस्ट पढ़कर कहीं ना कहीं आप मेरी बातों को और अपने अनुभव को relate कर पाओगे.

यदि आपको मेरा यह पोस्ट पसंद आया हो तो कृपा करके इसे अपने दोस्तों के साथ और अन्य ब्लॉगर के साथ फेसबुक WhatsApp ट्विटर और गूगल प्लस पर जरुर शेयर करें

यदि आप लोगों ने भी मेरे जैसा अनुभव महसूस किया है तो आप कृपया करके अपनी बातें कमेंट के माध्यम से हमारे साथ जरूर शेयर करें धन्यवाद दोस्तों

2 Comments

Add a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *